moving towards the end

"Soul Searching" - Contemporary Painting by Val Jean @ www.dreamsandmeditations.com
"Soul Searching" - Contemporary Painting by Val Jean @ http://www.dreamsandmeditations.com

जब कभी जब कभी
एक पत्ती है गिरती
तो क्या है चाहती….
चाहती, चाहती, वो है चाहती
बस दो गज़ ज़मीन ११

जब कभी जब कभी
सूखी आँखें है रोती
गम का दरिया बन बहती
तो क्या है चाहती….
चाहती, चाहती, वो है चाहती
बस दो गज़ ज़मीन ११

जब कभी जब कभी
अपनो की बेरूख़ी
बनी मन की मायूसी
तो क्या है चाहती….
चाहती, चाहती, वो है चाहती
बस दो गज़ ज़मीन ११

जब कभी जब कभी
नज़रों में वीरानी
टूटे तारों को तकती
तो क्या है चाहती….
चाहती, चाहती, वो है चाहती
बस दो गज़ ज़मीन ११

जब कभी जब कभी
एक आग में झुलसी
नज़र आए ज़िंदगी
तो क्या है वो चाहती….
चाहती, चाहती, वो है चाहती
बस दो गज़ ज़मीन ११

Advertisements